हेलो दोस्तो कैसे हो आप लोग उम्मीद करता हूं आप सब अच्छे होंगे। आप सभी को hindimepro.in वेबसाइट में स्वागत करता हूं। आज फिर से आपके लिए और एक नया पोस्ट लेके आया हूं आज में आपको बताऊंगा यूपीएससी का फुल फॉर्म क्या है ( UPSC Full Form In Hindi ) उसके साथ यूपीएससी परीक्षा क्या है, यूपीएससी परीक्षा के लिए कौन कौन से लोग आवेदन कर सकते हैं, एक बेक्ति कितनी बार यूपीएससी परीक्षा दे सकता है, यूपीएससी परीक्षा की आयु सीमा कितनी है इसके बारे में इस पोस्ट में बताया गया है।

यूपीएससी परीक्षा क्या है?

यूपीएससी को पहले पीएससी कहा जाता था। पीएससी क्या है। पीएससी याने की पब्लिक सर्विस कमीशन। पीएससी की फुल फॉर्म में पब्लिक सर्विस कमीशन और हिन्दी में इसे कहते हैं लोक सेवा आयोग।

यह सरकार की एक ऐसी संस्था है जिसके द्वारा ग्रुप ए ग्रुप बी के अधिकारियों की भर्ती की जाती है और इसकी स्थापना आजादी से पूर्व सन् 1926 में हुई थी। और 1950 में पीएससी ने कुछ बदलाव किया गया और इसके अधिकारों में विस्तार करके इसे यूपीएससी का नाम दिया गया। यूपीएससी का नाम दिया गया। यूपीएससी के फूलों में यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन और हिन्दी में से कहते हैं। संघ लोक सेवा आयोग।

यूपीएससी की स्थापना 26 अक्टूबर 1950 को हुई थी। यूपीएससी भारत की केंद्रीय संस्था है यानि की सेंट्रल गवर्मेंट एजेंसी है।

यह सरकार की एक ऐसी संस्था है जिसके द्वारा ग्रुप ए ग्रुप बी के अधिकारियों की भर्ती की जाती है। यूपीएससी के द्वारा किस तरह किसमें पोस्ट होती है जैसे आईएएस आईपीएस आईएफएस और आई आर एस जैसे लगभग 24 पदों के लिए परीक्षा का आयोजन करवाता है।

यूपीएससी का फुल फॉर्म क्या है – UPSC Full Form In Hindi

UPSC Full Form In Departments & Agencies

विभागों और एजेंसियों में यूपीएससी का फूल फ्रॉम Union Public Service Commission है।

UPSC Full Form In Research & Development

अनुसंधान एवं विकास में यूपीएससी का फूल फ्रॉम Umea Plant Science Centre है।

UPSC Full Form In Professional एसोसिएशन्स

व्यावसायिक संगठन में यूपीएससी का फूल फ्रॉम Urban Planning Society of China है।

यूपीएससी परीक्षा के लिए कौन कौन से लोग आवेदन कर सकते हैं?

अब बात करते हैं इस परीक्षा के लिए कौन कौन से लोग आवेदन कर सकते हैं। तो बात करें जो किसी क्वालिफिकेशन की तो यूपीएससी सिविल सर्विस परीक्षा के लिए अभ्यार्थियों को केवल स्नातक यानि की ग्रेजुएट पास होना चाहिए। इस परीक्षा के लिए किसी विशेष विषय से पास होना अनिवार्य नहीं है। इसके लिए सभी छात्रों को केवल स्नातक पास होना चाहिए। किसी भी विषय से और इस परीक्षा में अपेक्षित केंडिडेट भी आवेदन कर सकते हैं। ऐसे की जो अपने ग्रेजुएशन के लास्ट ईयर में वो कंडीडेट भी आवेदन कर सकते हैं।

एक बेक्ति कितनी बार यूपीएससी परीक्षा दे सकता है?

यूपीएससी सिविल सर्विस एग्जाम में कितनी बार बैठ सकते हैं। यानि कि एक अभ्यार्थी कितनी परीक्षाएँ दे सकता है। तो सामान्य केटेगरी के जेनरल कैंडिडेट 6 बार यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा दे सकते हैं वहीं पर अन्य पिछड़ा वर्ग यानि की ओबीसी छात्र 9 बार यूपीएससी सिविल सर्विस एग्जाम दे सकते हैं तथा अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के उम्मीदवारों के लिए कोई भी नियम नहीं है।

यूपीएससी परीक्षा की आयु सीमा कितनी है?

एज लिमिट यानी की आयु सीमा की तो एज लिमिट के लिए न्यूनतम आयु 21 वर्ष निर्धारित की गई है और अधिकतम आयु 32 वर्ष होनी चाहिए। यानी किसे 32 साल के बीच के उम्मीदवार इस परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं। वहीं पर अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति के छात्रों को आयु सीमा में पांच वर्ष की छूट दी जाएगी तथा अन्य पिछड़ा वर्ग के ओबीसी कैंडिडेट को आयुसीमा में तीन वर्ष की छूट दी जाती है और सैन्य क्षेत्र में सेवाएं दे चुके उम्मीदवारों को जिनलोगों ने भारतीय सेना में कम से कम पांच वर्ष या इससे अधिक सेवाएं दी हैं उनको आयु सीमा में पांच वर्ष की छूट दी जाती है।

ये भी पढ़े :

आज हमने क्या सीखा?

आज की इस पोस्ट में हमने सीखा है यूपीएससी का फुल फॉर्म क्या है ( UPSC Full Form In Hindi ) बारे में। इसके साथ हमने सीखा है यूपीएससी परीक्षा दे सकता है, यूपीएससी परीक्षा की आयु सीमा कितनी है इसके बारे में। उम्मीद करता हूं ये पोस्ट आपको अच्छा लगा होगा अच्छा लगा है तो पोस्ट को आप अपनी दोस्तो के साथ जरूर शेयर करदेना उनको भी पता चले की यूपीएससी का फुल फॉर्म क्या है बारे में। तब तक के लिए जय हिन्द।

Author

Hi, I'm Mantu Sing, में hindimepro.in वेबसाइट का संस्थापक हूं। में इस वेबसाइट knowledge, Full Form, Biography, Trending Topic के बारे में हिंदी में पोस्ट लिखता हूं।

Write A Comment