Ratan Tata की सफलता के 10 नियम

दोस्तो हमारे देश में शायद ही आज कोई ऐसा इंसान होगा जोकि Ratan Tata जी के बारे में न जानता हो। आज टाटा कंपनी कामयाबी के जिन भी बुलंदियों को छू रही है उसको इस ऊंचाई तक पहुंचाने में Ratan Tata का बहुत अहम योगदान रहा है और यही वजह है कि उन्हें हमारे देश के सबसे कामयाब लोगों में भी शुमार किया जाता है और आज हमारे देश के बहुत से लोग उन्हें अपना आदर्श मानकर उनके नक्शेकदम पर चलने की भी कोशिश करते हैं।

अब अगर आपने रतन टाटा को फॉलो करके उनकी तरह ही कामयाबी हासिल करना चाहते हैं तो फिर यह पोस्ट आपके लिए काफी हेल्पफुल साबित हो सकती है क्योंकि आज के हमारे इस पोस्ट में आपको Ratan Tata की सफलता के 10 नियम के बारे में बताने बाले हैँ।

#1: सुबह में जल्दी उठना

दोस्तो दुनिया के ज्यादातर सफल लोगों की तरह ही सुबह में जल्दी भी उन लोगों में से एक हैं जोकि रात में जल्दी सोते हैं और सुबह में जल्दी जागते हैं और कुछ सोचे तो यह भी बताती हैं कि जब सुबह में जल्दी की कंपनी के चेयरमैन हुआ करते थे तब जरूरी मीटिंग्स को वह सुबह के 6 बजे ही रखा करते थे क्योंकि उनका ऐसा मानना था कि कोई भी जरूरी काम करने के लिए सुबह का समय ही बेस्ट होता है।

अब आप खुद ही अंदाजा लगा सकते हैं कि अगर वह मीटिंग 6 बजे रखते थे तो फिर जागते के समय होगा। असल में सुबह जल्दी उठने से ना सिर्फ इंसान तरोताजा महसूस करता है बल्कि इससे उसकी प्रोडक्टिविटी भी काफी बढ़ जाती है। इसीलिए दुनिया भर के ज्यादातर कामयाब लोग सुबह में जल्दी उठना ही पसंद करते हैं।

#2: भरोसा बनाना

दोस्तों Ratan Tata एक ऐसे इंसान हैं जिनके लिए भरोसा सबसे अहम चीज है। उनके हिसाब से किसी भी कंपनी के कामयाब होने के लिए उस कंपनी के पास उसके कर्मचारियों कस्टमर्स और शेयरहोल्डर्स का भारसा होना सबसे ज्यादा जरूरी होता है क्योंकि किसी भी कंपनियां ब्रैंड की चीजें लोग तभी खरीदते हैं जब उन्हें उस ब्रांड पर भरोसा होता है।

और भरोसा बनने में भले ही सालों का समय लगता है लेकिन खत्म होने में सिर्फ एक पल और दोस्तों टाटा कंपनी भी अगर 150 सालों से टिकी हुई है तो वो इस भरोसे की वजह से जो कि लोग इस कंपनी पर करते हैं और इस बात को रतन टाटा भी बहुत अच्छी तरह से जानते और समझते हैं तभी तो वह खुद भी कभी किसी का भरोसा नहीं तोड़ते और अपना किया हुआ हर एक वादा निभाते हैं।

ये भी पढ़े – गोस्वामी तुलसीदास जी का जीवन परिचय

#3: कर्मचारियों से जुड़े रहना

दोस्तों किसी भी कंपनियां बिजनस के कामयाब होने के लिए यह बहुत जरूरी होता है कि उस कंपनी के ओनर का अपने कर्मचारियों के साथ एक अच्छा और मजबूत कनेक्शन हो और Ratan Tata इस बात को बहुत अच्छी तरह से समझते भी हैं और यही वजह है कि उनका अपने कर्मचारियों के साथ हमेशा ही बहुत अच्छा रिलेशन रहा है।

असल में Ratan Tata ना सिर्फ अपने कर्मचारियों की परेशानियों को समझकर उनका हल निकालते थे बल्कि बहुत बार वह उनसे मिलने के लिए उनके घर पर भी पहुंच जाया करते थे। और यही चीज उन्हें भारत ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया के सबसे महान लोगों में से एक बनाती है।

#4: बड़ी सोच रखना

दोस्तों एक इंटरव्यू में Ratan Tata जी से पूछा गया कि आपको BMW खरीद नी हो तो इसमें आपको कितना समय लग जाएगा। Ratan Tata जी ने कुछ देर सोचकर जवाब दिया हां 5 साल लगेगा। यह जवाब सुनकर वो इंटरव्यूअर और वहां पर मौजूद सभी लोग काफी हैरान रह गए और जब उस इंटरव्यूअर से रहा नहीं गया तो उसने दोबारा से पूछा कि सर इतना समय क्यों लगेगा। इस पर रतन टाटा जी ने जवाब दिया कि BMW एक बहुत बड़ी कंपनी है।

मतलब की इंटरव्यूअर एक BMW कार को खरीदने के बारे में पूछना था और Ratan Tata ने BMW कंपनी को ही खरीदने के बारे में सोच रहे थे। हालांकि उन्होंने यह बात मजाक में कही थी लेकिन इससे पता चलता है कि उनकी सोच किस तरह से काम करती है। उन्होंने हमेशा हर चीज के बारे में बड़ा ही सोचा है और ये भी उनकी कामयाबी के मुख्य कारणों में से एक है।

#5: दृड रहना

दोस्तों कारोबार चाहे जो भी हो उसने प्रॉफिट और लॉस दोनों ही होते रहते हैं लेकिन अपने बिजनेस को बड़ा करने और अपने लाइफ में कामयाबी हासिल करने के लिए यह बहुत जरूरी होता है कि हम अपने लक्ष्य को हासिल करने की तरफ हमेशा ही दृढ़ रहें क्योंकि मेहनत और लगन से काम करके गलत डिसीजन को भी सही बनाया जा सकता है और ये चीज हमें Ratan Tata जी के अंदर बहुत ही ज्यादा देखने को मिलती है।

इसके बारे में वह खुद कहते हैं कि मैं सही निर्णय लेने में विश्वास नहीं करता बल्कि मैं पहले निर्णय लेता हूं और फिर बाद में अपनी मेहनत से उन्हें सही साबित करके दिखाता हूं। अब गलत डिसीजन तो हर एक इंसान लेता है लेकिन इंपॉर्टेंट यह होता है कि आप अपने उस गलत फैसले को सुधारने के लिए क्या करते हैं।

#6: विनम्र स्वभाव रखना

दोस्तो एक इंसान के अच्छा होने की सबसे बड़ी निशानी उसके स्वभाव का विनम्र होना ही होता है। दरसल हर एक इंसान के लिए यह जरूरी होता है कि लाइफ में कामयाबी हासिल करने के साथ ही वो अपने स्वभाव को भी विनम्र रखें और हमेशा जमीन से जुड़ा रहे। क्योंकि जो लोग जरा सी कामयाबी मिलने पर हवा में उड़ने लगते हैं उनको वापस नीचे गिरने में ज्यादा समय नहीं लगता।

और हमारे भारत में जब हंबल लोगों की बात होती है तो फिर उसमें Ratan Tata जी का नाम ही सबसे ऊपर आता है क्योंकि लाइफ में इतनी कामयाबी हासिल करने के बावजूद भी उन्होंने कभी भी अपनी सिंपली सिटी को खत्म नहीं होने दिया और यह उनके व्यक्तित्व की सबसे बेहतरीन खूबियों में से एक है। वह हमेशा अपने पांव जमीन पर रखते हैं और खुद से भी पहले दूसरे लोगों की परेशानियों को हल करते हैं।

#7: खुद पर विश्वास रखना

दोस्तों कोई भी इंसान अपने लाइफ में तभी कामयाब हो पाता है जब उसको खुद पर और अपने लिए हुए फैसलों पर पूरा विश्वास होता है क्योंकि अगर किसी इंसान को अपने ऊपर ही विश्वास नहीं होगा तो फिर वो कोई भी डिसीजन सही से नहीं ले पाएगा और हो सकता है कि दूसरे लोगों को भी आपके लिए हुए डिसीजन समझ में ना आए।

लेकिन अगर आपको खुद पर पूरा भरोसा है तो फिर आप उन लोगों को भी गलत साबित कर सकते है। उदाहरण के लिए Ratan Tata जी ने भी अपनी लाइफ में बहुत सारे ऐसे फैसले लिए हैं जिन्हें कई दूसरे लोग बेवकूफी भरे डिसीजन मानते थे लेकिन Ratan Tata को खुद पर पूरा विश्वास था और उन्होंने दूसरों की सोच की परवाह किए बिना जो उने खुद ठीक लगा वही किया और फिर बाद में अपनी मेहनत से उन्होंने ना सिर्फ अपने उन गलत फैसलों को सही साबित करके दिखाया बल्कि जो लोगों के डिसीजन को गलत बताते थे उल्टा उन्हें ही गलत साबित कर दिया और दोस्तों तभी तो कहते हैं कि अगर इंसान को खुद पर यकीन हो तो फिर वो जिन्दगी में कुछ भी हासिल कर सकता है।

#8: सबको साथ लेकर चलना

दोस्तो कहते हैं कि लाइफ में वही इंसान आगे बढ़ पाता है जोकि सबको साथ लेकर चलता है क्योंकि अकेला इंसान सिर्फ एक हद तक आगे जा सकता है और फिर उसके बाद आगे जाने के लिए उसको दूसरे लोगों की मदद लेनी ही पड़ती है। दुनिया का कोई भी इंसान अकेले के दम पर सब कुछ नहीं कर सकता। इसीलिए जो व्यक्ति दूसरों की मदद लेना और सबके साथ चलना जानते हैं वही कामयाबी की बुलंदियों को छू पाते हैं।

इसके बारे में Ratan Tata जी खो दिया कहते हैं कि अगर तुम तेज चलना चाहते हो तो फिर अकेले चलो। लेकिन अगर तुम दूर तक चलना चाहते हो तो फिर सबको साथ लेकर चलना। असल में Ratan Tata इस बात को बहुत अच्छी तरह से समझते हैं कि वह अपने अकेले के दम पर सब कुछ नहीं कर सकते। इसीलिए वह दूसरे लोगों से मदद लेने में भी बिल्कुल भी संकोच नहीं करते और यह एक कामयाब इंसान की निशानी होती है।

#9: हमेशा सीखते रहना

दोस्तो एक सक्सेसफुल पर्सन वही होता है जो हमेशा अपनी गलतियों कामयाबियों और एक्सपीरियंस से कुछ ना कुछ नया सीखता रहता है और हमेशा सीखते रहने की भूख का होना कामयाब इंसान की निशानियों में से एक माना जाता है।

अब आप देख सकते हैं कि दुनिया में जितने भी बड़े बड़े बिलेनियर मौजूद हैं उन सभी में यह आदत होती है कि वे हमेशा कुछ न कुछ नया सीखते रहते हैं। ठीक उसी तरह से ही Ratan Tata जी को भी हमेशा कुछ न कुछ नया सीखते रहना पसंद है। आपको जानकर हैरानी होगी कि Ratan Tata जिन्हें टाटा कंपनी में अपने करियर की शुरुआत एक नॉर्मल वर्कर के रूप में की थी क्योंकि किसी भी बड़े ओहदे पर बैठने से पहले वो अपने कारोबार को ग्राउंड लेवल से समझना चाहते थे और इस बात से पता चलता है कि वह चीजों को सीखने और समझने को कितना ज्यादा इम्पॉर्टेंस देते हैं।

#10: रिस्क लेना

दोस्तों व्यापार का यह नियम होता है कि जो इंसान रिस्क लेने की हिम्मत रखता है वही अपनी लाइफ में कुछ बड़ा कर पाता है और जिन लोगों में रिस्क लेने की हिम्मत नहीं होती वह पूरी जिंदगी सिर्फ एक लेवल तक ही सीमित होकर रह जाते हैं।

अब Ratan Tata जी की अगर बात करें तो वह रिस्क लेने से बिल्कुल भी नहीं घबराते हैं। उन्होंने अपनी लाइफ में बहुत बार बहुत बड़े बड़े रिस्क लिया है। यहां तक कि कई बार तो उनका सब कुछ भी दांव पर लग चुका है लेकिन ये उनके बड़े बड़े रिस्क लेने का ही नतीजा है कि आज उन्हें हमारे भारत के सबसे सफल लोगों में शुमार किया जाता है।

इसलिए किसी भी इनसान के कामयाब होने के लिए उसके अंदर जिसके लेने का दमखम होना बहुत ही ज्यादा जरूरी होता है।

तो दोस्तो यह थे 10 नियम Ratan Tata जी के जिससे कि हमें भी बहुत कुछ सीखना चाहिए। उम्मीद करते हैं कि आपको यह पोस्ट जरूर ही पसंद आई होगी।

Leave a Comment