NEET Ki Full Form – नीट क्या है?

हेलो दोस्तो कैसे हो आप लोग उम्मीद करता हूं आप सब अच्छे होंगे। आप सभी को HindiMePro इन वेबसाइट में स्वागत है। इस पोस्ट में आपको नीट क्या है, नीट में पास होने के लिए कितने नंबर चाहिए, नीट एग्जाम सिलेबस, नीट फीस, नीट का पेपर कैसा होता है, नीट 2021 परीक्षा ऑनलाइन होगी या ऑफलाइन, नीट 2021 के लिए आयु सीमा क्या है, नीट की तैयारी कैसे करे, नीट के लिए योग्यता, नीट का फुल फॉर्म इन हिंदी, नीट एग्जाम रूल्स, नीट का हिंदी अर्थ, NEET Ki Full Form, NEET Full Form in Hindi इन सबके बारे में बताऊंगा तो इस पोस्ट को लास्ट को पढ़िए।

नीट क्या है?

नीट का फुल फॉर्म होता है नेशनल एलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट और ये भारत में मेडिकल एजुकेशन से जुड़े कोर्सेस एमबीबीएस और बीडीएस में एडमिशन लेने के लिए एक क्वालिफाइड एंट्रेंस एग्जाम है। इस एग्जाम को क्लियर कर लेने वाले स्टूडेंट्स को इन कोर्सेस में एडमिशन मिल जाता है। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानि की एनटिए नीट एग्जाम को कंडक्ट करती है और नीट एग्जाम दो लेवल पर होता है यूजी और पीजी।

नीट यूजी लेवल पर एमबीबीएस और बीडीएस जैसे मेडिकल कोर्सेस के लिए एंट्रेंस टेस्ट होता है जबकि नीट पीजी लेवल में एमएस और एमडी जैसे डिग्री कोर्सेस में एडमिशन के लिए एंट्रेंस टेस्ट होता है। ये एग्जाम हर साल देश के लगभग 479 मेडिकल कॉलेजेस में एडमिशन के लिए आयोजित किया जाता है।

NEET Ki Full Form – नीट का हिंदी अर्थ

  • NEET Full Form In English – National Eligibility cum Entrance Test
  • NEET Full Form In Hindi – राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा
  • NEET Full Form In Marathi – राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा
  • NEET Full Form In Gujrati – રાષ્ટ્રીય પાત્રતા અને પ્રવેશ કસોટી

नीट की जरूरत क्यों पड़ी?

नीट की जरूरत क्यों पड़ी जबकि इससे पहले भी मेडिकल कोर्सेस में एडमिशन के लिए एंट्रेंस टेस्ट हुआ करते थे तो इसका जवाब यह है कि नीट से पहले भारत में मेडिकल कोर्स में एडमिशन लेने के लिए अलग अलग 90 एग्जाम्स हुआ करते थे।

इनमें से एआईपीएमटी सीबीएसई यानि की सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन द्वारा करवाया जाता था और हर स्टेट भी अलग अलग मेडिकल एंट्रेंस टेस्ट करवाता था तो इस सिचुएशन में हर स्टूडेंट को लगभग 7 से 8 एंट्रेंस एग्जाम देने पड़ते थे जिससे ना केवल उन्हें बहुत प्रेशर में रहते हुए परफॉर्म करना होता था बल्कि हर एग्जाम के साथ अप्लीकेशन फीस और एंट्रेंस टेस्ट में अपीयर होने के लिए बहुत सारा खर्चा भी हुआ करता था तो इस फाइनेंशियल बर्डन को हटाने और टाइम और एफर्ट को वेस्ट होने से रोकने के लिए नीट एग्जाम लाया गया।

अलग अलग एग्जाम को क्लियर करने के लिए अलग अलग सिलेबस को पूरा करने जैसे कि इस ड्रेस को भी नीट एग्जाम से दूर कर दिया है क्योंकि अब मेडिकल कोर्सेस में एडमिशन के लिए सिर्फ एक एग्जाम यानि की नीट को क्लीयर करने की ही जरूरत है तो इस तरीके से नीट से एआईपीएमटी और स्टेट लेवल सीटीईटी जैसे दिल्ली पीएमटी एमएच सीईटी और पीएमटी डब्ल्यू बीजेपी ए एम सीईटी को रिप्लेस कर दिया है और ये काफी अच्छी बात है।

नीट 2021 परीक्षा ऑनलाइन होगी या ऑफलाइन

गर हम बात करे तो नीट यूजी  5 मई 2019 को हुआ और 5 जून 2019 को इसका रिजल्ट डिक्लेयर कर दिया गया। यह एक सिंगल स्टेज एग्जाम है और यह ऑफलाइन होता है। आने वाले सालों में ये एग्जाम ऑफलाइन होगा या ऑनलाइन ये अभी तय नहीं है। वैसे ये भी पॉसिबिलिटी है कि आगे आने वाले नीट साल में एक बार होने की बजाए दो बार हो सकते हैं। इस एग्जाम की ड्यूरेशन तीन घंटे की होती है। इसमें ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चंस होते हैं और निगेटिव मार्किंग भी होती है।

नीट के लिए योग्यता

इस एग्जाम में बैठने के लिए ट्वेल्थ में फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी या बायो टेक्नोलॉजी सब्जेक्ट्स होने चाहिए और इस एग्जाम में फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी यानि बॉटनी या जूलोजी सब्जेक्ट्स के क्वेश्चन्स भी शामिल होते हैं। नीट में अपीयर होने के लिए मैथ्स होना जरूरी नहीं होता है।

इस एग्जाम को देने के लिए कैंडिडेट की उम्र कम से कम 17 साल होनी चाहिए जबकि इस एग्जाम के लिए कोई अपर एज लिमिट नहीं है। इस एग्जाम में अपीयर होने के लिए अनरिजर्व कैटेगरी के कैंडिडेट्स को क्लास ट्वेल्थ में फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी बायोटेक्नोलॉजी सब्जेक्ट्स में मिनिमम फिफ्टी परसेंट मार्क्स लाना जरूरी होता है जबकि ओबीसी एससी और एसटी कैंडिडेट्स के लिए ये 40 प्रतिशत है। इस एग्जाम को क्लियर करने के लिए कैंडिडेट कितने भी अटैम्प्ट ले सकता है। कैंडिडेट का इंडियन होना जरूरी है।

नीट की तैयारी कैसे करे

सबसे पहले तो आप अपने करियर से जुड़ा ये सबसे इम्पॉर्टेंट डिसीजन अच्छे से सोच समझ कर लीजिए कि क्या वाकई में आप अपने आपको डॉक्टर के तौर पर देखना चाहते हैं। जवाब यह है तो पूरी तरीके से हां पूरी तरीके से अपने आपको इस एग्जाम के लिए तैयार करने में जुट जाइए क्योंकि अपने सपने को हकीकत बनाने का दम सिर्फ आप ही में हैं।

इसीलिए अपना पूरा फोकस इस एग्जाम को क्रैक करने पर लगाइए। इसके लिए ट्वेल्थ स्टैंडर्ड का एग्जाम भी आपको अच्छे से क्लियर करना चाहिए और गौर कीजिएगा कि आपकी स्कूल एजुकेशन पर जितनी पकड़ होगी उतना ही आसान आपके लिए इस एग्जाम को क्रैक करना होगा।

इसीलिए फिजिक्स केमिस्ट्री और बायोलॉजी के बेसिक्स को क्लियर करते हुए ही आपको आगे बढ़ना होगा। टाइम मैनेज करना सीखिए ताकि इस एग्जाम को क्रैक करने और अपने सपनों को रियल करने के प्रोसेस में आपको टाइम की कमी न महसूस हो। अगर आप पहले भी नीट दे चुके हैं और नेक्स्ट एग्जाम की तैयारी में जुटे हैं तो याद रखिए लास्ट एग्जाम में होने वाली मिस्टेक्स का ऐनालिसिस जरूर कीजिए कि अगर आपने कुछ किया तो वह क्यों किया किस रीजन से किया ताकि अगले अटेम्प्ट में आप फिर से वही मिस्टेक रिपीट ना करें जिनकी वजह से आप एग्जाम को क्रैक नहीं कर पाए थे।

नीट क्लियर करने के लिए अपने विजन को क्लियर रखिए ऑथेंटिक बुक्स की हेल्प लीजिए। प्रैक्टिस करते रहिए और अपनी हेल्थ का भी खयाल रखिए ताकि आप अच्छे से परफॉर्म कर सकें। कम से कम 6 से 7 घंटे की नींद जरूर लीजिए क्योंकि बिना अच्छी और पूरी नींद के आप किसी भी टॉपिक को अच्छे से समझ नहीं सकते हैं। इसका नेगेटिव इम्पैक्ट आपकी बॉडी और माइंड पर पड़ेगा।

तो खुद को एक कमरे में बंद करके दिन रात पढ़ते रहने की बजाए सही टाइम टेबल बनाइए और अपना पूरा फोकस इस एग्जाम को क्रैक करने पर लगा दीजिए। इसके लिए आप कुछ नॉर्मल रूटीन को फॉलो करने की जरूरत होगी ना कि स्ट्रेस और प्रेशर से भरे रुटीन की।

इसीलिए हेल्दी माइंड और बॉडी के साथ आप जुट जाइए नेक्स्ट नीट एग्जाम के लिए सही गाइडेंस के साथ सही डायरेक्शन में चलते हुए इस एग्जाम कुकरा के लिए ऑल द बेस्ट और दोस्तों एक्सपर्ट को उम्मीद है कि नीट से जुड़ी ये जानकारी आपको जरूर पसंद आई होगी और आप भी काफी सारा बेनेफिट देने वाली है।

आज हमने क्या सीखा

आज की पोस्ट में हमने नीट क्या है, NEET Ki Full Form, नीट के लिए योग्यता बारे ने सीखा है। में उम्मीद करता हूं ये पोस्ट आपको अच्छा लगा होगा अच्छा लगा हो तो इस पोस्ट को आप अपनी दोस्तो के साथ जरूर शेयर कर देना उनको भी पता चले की नीट के बारे में। जय हिन्द।

Leave a Comment