NAD Ka Full Form In Hindi – NAD का फुल फॉर्म क्या है?

आपको Hindimepro वेबसाइट में स्वागत है। इस पोस्ट में मेने NAD क्या है, NAD Full Form In Hindi, NAD Full Form, NAD का फुल फॉर्म क्या होता है, NAD का मतलब क्या है, NAD के फायदे के बारे में बताया है।

NAD क्या है?

NAD का फुल फॉर्म National Academic Depository है। जब भी आप किसी स्कूल बोर्ड यूनिवर्सिटीज़ या फिर अन्य किसी भी एजुकेशनल इंस्टिट्यूट से अपना कोर्स कंप्लीट कर लेते हैं तो कोर्स कंप्लीट होने के बाद आपको मार्क सीट, डिग्री, डिप्लोमा या फिर अन्य किसी भी प्रकार का सर्टिफिकेट प्रोवाइड किया जाता है। जो भी डाक्यूमेंट्स आपको प्रोवाइड कराए जाते हैं वो सारे डाक्यूमेंट्स कागज के रूप में होते हैं। अब मान लीजे अगर किसी कारण से आपके डॉक्युमेंट्स गुम हो जाते हैं या फिर खराब हो जाते हैं तो इसे दोबारा से प्राप्त करने के लिए आपको अनेक प्रकार की परेशानियों का सामना करना पड़ता है।

इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने 9 जुलाई 2017 को NAD सिस्टम को लांच किया। जहां पर आप अपने एजुकेशनल डॉक्यूमेंट्स को डिजिटल रूप में एक्सेस कर सकते हैं।

NAD Full Form In Hindi – NAD का फुल फॉर्म क्या है?

NAD Full Form In government

सरकार में NAD का फुल फॉर्म National Academic Depository है।

NAD Full Form In Networking

नेटवर्किंग में NAD का फुल फॉर्म Network Address Directory है।

NAD Full Form In Electronics

इलेक्ट्रानिक्स में NAD का फुल फॉर्म Note Amplitude Data है।

NAD Full Form In Database Management

डेटाबेस प्रबंधन में NAD का फुल फॉर्म Name and Address Data है।

NAD Full Form In Earth Science

पृथ्वी विज्ञान में NAD का फुल फॉर्म North American Datum है।

NAD Full Form In Physics Related

भौतिकी संबंधी में NAD का फुल फॉर्म Nihilistic Animation Data है।

NAD Full Form In Military and Defence

सैन्य और रक्षा में NAD का फुल फॉर्म Naval Armament Depot है।

NAD के फायदे

अगर आप NAD के लिए रजिस्ट्रेशन करते हैं तो रजिस्ट्रेशन के बाद आपको कौन कौन से बेनिफिट मिल सकते हैं इसकी जानकारी भी मैं आपको दे देता हूं।

  • NAD में रजिस्ट्रेशन करने का सबसे पहला और अच्छा बेनिफिट ये रहता है कि आप कहीं से भी अपने डॉक्यूमेंट्स को आनलाइन एक्सेस कर पाएंगे। साथ ही आप चाहे तो इसे आसानी से डाउनलोड और प्रिंट भी कर सकते हैं।
  • अगर किसी कारण से कागज रूपए जारी किए गए सर्टिफिकेट्स गुम हो जाते हैं या फिर खराब हो जाते हैं ताे ये डुप्लीकेट सर्टिफिकेट के रूप में ऑनलाइन आसानी से प्राप्त कर पाएंगे।
  • साथ ही डिजिटल रूप में स्टोर होने के कारण डॉक्यूमेंट्स के चोरी हो जाने खराब हो जाने या फिर गुम जाने का कोई भी खतरा नहीं रहता है।
  • इसके अलावा अगर आप कहीं पर जॉब के लिए अप्लाई कर रहे हैं तो वहां पर आपसे आपके डॉक्यूमेंट्स का वेरिफिकेशन मांगा जाता है और इस प्रोसेस को भी आप ऑनलाइन बड़ी ही आसानी से कर पाएंगे।

Hi, I'm Mantu Sing, में hindimepro.in वेबसाइट का संस्थापक हूं। में इस वेबसाइट में जीबनी परिचय, फुल फॉर्म, जानकारी के बारे में पोस्ट लिखता हूं।

Leave a Comment