आपको HindiMePro वेबसाइट में स्वागत हैं। इस पोस्ट में मेने एमबीए कर्स क्या है, एमबीए का फुल फॉर्म क्या होता हैं ( MBA Full Form In Hindi ), एमबीए कर्स करने के लिए एलिजिबिलिटी क्या हैं, एमबीए में एडमिशन कैसे मिलता है, एमबीए कर्स में फीस कितनी लगती है बारे में बताया हैं।

एमबीए कर्स क्या है?

एमबीए का फुल फॉर्म होता है मास्टर और बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन। एमबीए एक मास्टर डिग्री कोर्स है जिसे आप ट्वेल्थ या फिर ग्रेजुएशन के बाद कर सकते हैं। इस कोर्स में ये सिखाया जाता है कि किसी बिजनेस को कैसे ग्रो किया जाए बिजनेस को कैसे बढ़ाया जाए और उसको किस किस तरीके से डेवलप किया जाए ये सारे तौर तरीके इस कोर्स में सिखाए जाते हैं। यानि की स्टूडेंट्स को बिजनेस में एक्सपर्ट बनाया जाता है।

अक्सर लोग कहते हैं कि ये कोर्स वही लोग करते हैं जो बिजनेस करते हैं बल्कि ऐसा नहीं है ये कोर्स आप भी कर सकते हैं। इस कोर्स को करने के बाद आप कंपनीज में जॉब भी कर सकते हैं और अच्छी खासी सैलरी भी पा सकते हैं। यदि आपको बिजनेस में एक्सपर्ट बनना है तो आप ये कोर्स जरूर कीजिए।

MBA Full Form In Hindi – एमबीए का फूल फॉर्म क्या हैं?

MBA Full Form In Academic Degrees

शैक्षणिक डिग्री में एमबीए का फुल फॉर्म Masters of Business Administration हैं।

MBA Full Form In Trade Associations

व्यापार संघ में एमबीए का फुल फॉर्म Mortgage Bankers Association हैं।

MBA Full Form In Sports & Recreation Organizations

खेल और मनोरंजन संगठन में एमबीए का फुल फॉर्म Maldives Basketball Association हैं।

MBA Full Form In Scientific Organizations

वैज्ञानिक संगठन में एमबीए का फुल फॉर्म Marine Biological Association हैं।

MBA Full Form In Universities & Institutions

विश्वविद्यालयों और संस्थानों में एमबीए का फुल फॉर्म Montgomery Bell Academy हैं।

MBA Full Form In Buildings & Landmarks

बिल्डिंग और लैंडमार्क में एमबीए का फुल फॉर्म Monterey Bay Aquarium हैं।

MBA Full Form In Airport Codes

हवाई अड्डा कोड में एमबीए का फुल फॉर्म Mombasa International Airport हैं।

MBA Full Form In Basketball

बास्केटबाल में एमबीए का फुल फॉर्म Metropolitan Basketball Association हैं।

MBA Full Form In Automotive

मोटर वाहन में एमबीए का फुल फॉर्म Mechanical Brake Assist हैं।

MBA Full Form In Regional Organizations

क्षेत्रीय संगठन में एमबीए का फुल फॉर्म Mountain Bothies Association हैं।

एमबीए कर्स करने के लिए एलिजिबिलिटी क्या हैं?

यदि आप ट्वेल्थ पास कर चुके हैं तो आप इस कोर्स को कर सकते हैं और इसके लिए जरूरी है कि आपके ट्वेल्थ में कम से कम 50 परसेंट मार्क्स जरूर हो और आप चाहे किसी भी स्ट्रीम से हों आप इस कोर्स को कर पाएंगे।

यदि आप इस कोर्स को ट्वेल्थ के बाद करते हैं तो ये पांच वर्ष में कम्पलीट होगा। यदि आप इस कोर्स को ग्रेजुएशन के बाद करते हैं तो ये कोर्स टू ईयर यानि की फोर सेमेस्टर में कंप्लीट होगा पार सेमेस्टर सिक्स मंथ का होता है।

एमबीए में एडमिशन कैसे मिलता है?

तो सबसे पहले आपको एक इंट्रेंस एग्जाम क्वालिफाई करना होगा। यदि आप इंट्रेंस एग्जाम को क्वालिफाई कर लेते हैं तो आपको काउंसलिंग प्रोसेस में भाग लेने का मौका दिया जाएगा। आपके इंट्रेंस एग्जाम में जैसे मार्क्स होगी उसी के बेस पर आपको कॉलेज मिलेगा जिसमें आप पढ़ाई कर की एमबीए को कंप्लीट कर सकते हैं।

कुछ कॉलेज ऐसे भी होते हैं जिनमें बिना एंट्रेंस एग्जाम के प्रवेश मिल जाता है तो वह कॉलेज जो होते हैं वो प्राइवेट ही होते हैं। एमबीए में प्रवेश के लिए कई इंट्रेंस एग्जाम कराए जाते है जैसे की जीमैट, कैट, सीमेट ये बहुत सारे इंट्रेंस एग्जाम हैं जिनमें से किसी भी इंट्रेंस एग्जाम को क्वालिफाई करके आप एमबीए में प्रवेश ले सकते हैं।

एमबीए कर्स में फीस कितनी लगती है?

तो देखिए एमबीए में अलग अलग कोर्सेज होते हैं और हर कोर्स की फीस अलग अलग होती है और एमबीए कॉलेजों में फीस में बदलाव देखने को मिलता है। ऐसे में एक एवरेज फीस बता पाना बहुत मुश्किल है। इसके लिए हमें क्षमा करें कि आपको एमबीए करना है तो आप पहले कॉलेजों में अपने कोर्स के अनुसार उसकी फीस पता कर लीजिएफिर एमबीए कीजिए।

एमबीए में कौन कौन से सब्जेक्ट होते हैं?

तो देखिए उनमें से कुछ के नाम हम आपको बता देते हैं। एमबीए इन फाइनेंस, एमबीए इन मार्केटिंग, एमबीए इन एकाउंटिंग, एमबीए इन एचआरएम, एमबीए इन इंटरनेशनल बिजनेस यानि की आईबी । इसके अलावा और भी कोर्सेज हैं जिनमें आप अपना करियर बना सकते हैं। आपका जिस फील्ड में इंट्रेस्ट है तो आप वो कोर्स चूज कीजिए और उसकी कंप्लीट स्टडी कीजिए।

एमबीए कर्स के बाद जॉब

इसके लिए दो चीजें हैं। पेहेला मल्टी नेशनल कंपनी इतने जॉब नंबर टू गवर्मेंट जॉब। इस कोर्स को करने के बाद आप मल्टीनेशनल कंपनीज में जॉब भी कर सकते हैं और यदि आप इंट्रेस्टेड हैं गवरमेंट जॉब के लिए तो आप गवर्मेंट जॉब के लिए अप्लाई कर गवरमेंट जॉब पा सकते हैं।

एमबीए कर्स के बाद सैलरी कितनी मिलती हैं?

तो देखिये सैलरी आपके कोर्स और आपके एक्सपीरियंस एंड पर्सनालिटी और आपकी पोस्ट पर डिपेंड करती है कि आप किस पोस्ट पर हैं और आप किस कॉलेज के द्वारा किस पोस्ट पर पहुंचे हैं। इन चीजों पर आपकी सेलरी डिपेंड करती है।

एमबीए कर्स के फायदे क्या क्या हैं?

सबसे पहला फायदा ये है कि आप इस कोर्स को करने के बाद बिजनेस में एक्सपर्ट बन सकते हैं। यानि बिजनेस को कैसे ग्रो किया जाए, बिजनेस को कैसे बढ़ाया जाए इसके तौर तरीके सीख सकते हैं।

नंबर टु इस कोर्स को करने के बाद गवर्मेंट जॉब भी पा सकते हैं और दूसरा मल्टीनेशनल कंपनीज में जॉब मल्टीनेशनल कंपनीज बढ़ रही हैं। ऐसे में एमबीए होल्डर्स की मांग भी बढ़ रही है तो ये आपके लिए एक सुनहरा अवसर है। आप एमबीए करने के बाद मल्टीनेशनल कंपनीज में जॉब कर सकते हैं और काफी अच्छी सैलरी पा सकते हैं।

ये भी पढ़े :

Author

Hi, I'm Mantu Sing, में hindimepro.in वेबसाइट का संस्थापक हूं। में इस वेबसाइट knowledge, Full Form, Biography, Trending Topic के बारे में हिंदी में पोस्ट लिखता हूं।

Write A Comment