IFS Full Form In Hindi – आईएफएस ऑफिसर कैसे बने?

आपको HindiMePro वेबसाइट में स्वागत है। इस पोस्ट में मेने आईएफएस होता क्या है, आईएफएस का फुल फॉर्म ( IFS Full Form In Hindi ), आईएफएस के लिए एलिजिबिलिटी क्या चाइये, आईएफएस के लिए एज लिमिट कितना चाइये इसके बारे में बताया है।

आईएफएस होता क्या है?

आईएफएस का फुल फॉर्म इंडियन फॉरेन सर्विस होता है। हमारे देश के अब विदेश मंत्रालय के कार्यों को संभालने के लिए एक डिपार्टमेंट बनाया गया है। उस डिपार्टमेंट में जो वर्क करते हैं जो काम करते हैं उनको हम आईएफएस ऑफिसर कहते हैं।

आईएफएस सेंट्रल गवर्नमेंट के अंतर्गत आते हैं आईएफएस ऑफिसर्स बहुत ही महत्वपूर्ण होते हैं इम्पोर्टेंट होते हैं हमारी कट्री के लिए किसी भी कंट्री के लिए क्योंकि वे हमारे देश को विदेश में रिप्रेजेंट करते हैं अर्थात विदेश के जो मामले रहते हैं उनको सुलझाते हैं सॉल्व करते हैं। इस तरह से आईएफएस ऑफिसर्स किसी भी देश के लिए हमारे भारत का इंडियन फॉरेन सर्विस काफी इम्पोर्टेंट है।

आईएफएस का पूरा नाम – IFS Full Form In Hindi

IFS Full Form In Departments & Agencies

विभागों और एजेंसियों में आईएफएस का फुल फॉर्म Indian Foreign Service है।

IFS Full Form In International Orgaizations

अंतर्राष्ट्रीय संगठन में आईएफएस का फुल फॉर्म International Food Standard है।

IFS Full Form In Software & Applications

सॉफ़्टवेयर एप्लिकेशन में आईएफएस का फुल फॉर्म Installable File System है।

IFS Full Form In Automotive

मोटर वाहन में आईएफएस का फुल फॉर्म Independent Front Suspension है।

आईएफएस के लिए एलिजिबिलिटी

तो सबसे पहले इंडियन सिटिजन होना जरूरी है। इसके अलावा कुछ और जैसे कि नेपाल भूटान से आप हैं वहां से भी लेकिन आपका जो ग्रेजुएशन है वो आपका इंडिया से होना चाहिए। एलिजिबिलिटी ग्रेजुएशन मांगी जाती है। ग्रेजुएशन अगर आप हैं तो आप किसी भी सब्जेक्ट से तो आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। सो इंडियन सिटिजन एलिजिबिलिटी में आपका ग्रेजुएशन रहेगा। आप ग्रेजुएशन है तो आप इसके लिए आवेदन कर सकते हैं।

आईएफएस के लिए एज लिमिट

आईएफएस के लिए 21 से 32 साल रहती है ये जनरल कैटिगरी के लिए रखी गई है लेकिन जो रिसोर्वे कैटिगरीज में आते हैं उनको रिलैक्सेशन दिया जाता है। एससी, एसटी, ओबीसी या अदर जो रिजर्व्ड कैटिगरी में आते हैं उनको रिलैक्सेशन दे दिया जाता है।

आईएफएस के लिए आबेदन कैसे करे

आपको आईएफएस अफसर बनने के लिए सिविल सर्विस एग्जाम देना होता है जो यूपीएससी के द्वारा कंडक्ट कराया जाता है। यूपीएससी के द्वारा जो सिविल सर्विस एग्जाम कंडक्ट कराया जाता है जैसे की आईपीएस ऑफिसर आईएएस या आईपीएस ऑफिसर ये सभी एक ही तरह से बनते हैं सभी के लिए एक एग्जाम होता है। अगर आप आईएफएस ऑफिसर बनना चाहते हैं आपको यूपीएससी के द्वारा सिविल सर्विस एग्जाम देना होगा आईएफएस का फॉर्म आपको फिल करना होगा।

ये भी पढ़े :

आईएफएस के लिए एग्जाम पैटर्न

आईएफएस ऑफिसर के लिए थ्री स्टेप में आपका सिलेक्शन प्रोसीजर रहता है प्री एग्जाम, मेन एग्जाम और इंटरव्यू रहेगा। प्री एग्जाम में दो पेपर होते हैं 200 – 200 मार्क्स के रहते हैं आब्जेक्टिव टाइप होते हैं तो आप ये एग्जाम देते हैं इसमें आप से आप भारतीय अर्थव्यवस्था राजनीति या विदेश नीति और करंट अफेयर्स से क्वेशन किए जाते हैं फर्स्ट पेपर में सेकेंड पेपर आपका रहता है एप्टिट्यूड, रीजनिंग इस टाइप के क्वेशन आपसे किए जाएंगे।

प्री एग्जाम क्लियर करने के बाद आपका मेन एग्जाम होता है मेन एग्जाम में 9 पेपर्स होते हैं इसमें। इसमें रिटन आपको  ऐसे रहेगा। अलग अलग सब्जेक्ट्स पर आपको अलग अलग टॉपिक्स पर आपको इसमें ऐसे लिखना होता है। ये 9 पेपर्स होते हैं।

मेन्स एग्जाम आप क्लियर कर लेते हैं तो आपको इंटरव्यू के लिए कॉल किया जाता इंटरव्यू थोड़ा टफ रहता है। इंटरव्यू क्लियर करने के बाद आपको ट्रेनिंग के लिए भेजा जाता है।

आईएफएस के लिए अटेम्प्ट कितने रहते हैं

तो जनरल कैटिगरी के लिए 6 ईयर का टाइम रहता है आप 6 बार यहां पर आवेदन कर सकते हैं। ओबीसी कैटिगरी के लिए 9 ईयर और एससी एसटी कैंडिडेट्स के लिए अनलिमिटेड रहते हैं।

आईएफएस की सैलरी

आईएफएस ऑफिसर रैंक अलग अलग रहती है। अलग अलग पोस्ट पर आप जाते हैं किस पोस्ट पर आप उस पर डिपेंड करता है। लेकिन अगर हम एक एवरेज देखें तो 55 हजार से लेकर के 2 लाख 2.5 लाख तक सैलरी रहती है। अगर आप विदेश में पोस्टेड रखते हैं तो वहां पर आपकी सैलरी ज्यादा रहती है।

Leave a Comment