Full Form

DM Full Form In Hindi – डीएम कैसे बने?

आपको HindiMePro वेबसाइट में स्वागत है। इस पोस्ट में मेने डीएम किसे कहते है, डीएम का पूरा नाम क्या है ( DM Full Form In Hindi ), डीएम और कलेक्टर में क्या अंतर है, डीएम का फुल फॉर्म हिंदी में क्या होता है, DM कैसे बनते हैं, डीएम के लिए क्या क्वालिफिकेशन चाइये, डीएम बनने के लिए ऐज कितना होना चाईए बारे में बताया है।

डीएम क्या है?

डीएम का जो फुल फॉर्म है वो है डिस्ट्रिक मजिस्ट्रेट सोर्ट में डीएम कहते हैं फुल फॉर्म है इसका डिस्ट्रिक मजिस्ट्रेट या जिला मजिस्ट्रेट जिला का मुख्य कार्यकारी प्रशासन ने को राजस्व अधिकारी होता है। डीएम का जो कार्य रहता है वो कानून व्यवस्था को बनाये रखना है जिसमे डिस्ट्रिक में पोस्टेड हैं उस डिस्ट्रिक की बार्षिक रिपोर्ट तैयार की जाती है जिससे कि कोई भी घटना वहां पर जो घट रही है अपराध जो किये जा रहे हैँ उसकी रिपोर्ट तैयार करके सरकार को देना होता है।

DM Full Form In Hindi – डीएम का पूरा नाम क्या है?

DM Full Form In Police

पुलिस में डीएम का फुल फॉर्म District Magistrate है।

DM Full Form In Medical

मेडिकल में डीएम का फुल फॉर्म Doctor of Medicine है।

DM Full Form In Instagram

इंस्टाग्राम में डीएम का फुल फॉर्म Direct Messaging है।

DM Full Form In Mathematics

गणित में डीएम का फुल फॉर्म Decimeter है।

DM Full Form In Diseases & Conditions

रोग और स्थितियां में डीएम का फुल फॉर्म Diabetes Mellitus है।

DM Full Form In Units

यूनिट्स में डीएम का फुल फॉर्म Dry Matter है।

DM Full Form In Hospitals

अस्पताल में डीएम का फुल फॉर्म Disaster Management है।

DM Full Form In Currencies

मुद्राओं में डीएम का फुल फॉर्म Deutsche Mark है।

" } } , { "@type": "Question", "name": "DM Full Form In Instagram", "acceptedAnswer": { "@type": "Answer", "text": "

इंस्टाग्राम में डीएम का फुल फॉर्म Direct Messaging है।

" } } , { "@type": "Question", "name": "DM Full Form In Mathematics", "acceptedAnswer": { "@type": "Answer", "text": "

गणित में डीएम का फुल फॉर्म Decimeter है।

" } } , { "@type": "Question", "name": "DM Full Form In Diseases & Conditions", "acceptedAnswer": { "@type": "Answer", "text": "

रोग और स्थितियां में डीएम का फुल फॉर्म Diabetes Mellitus है।

" } } , { "@type": "Question", "name": "DM Full Form In Units", "acceptedAnswer": { "@type": "Answer", "text": "

यूनिट्स में डीएम का फुल फॉर्म Dry Matter है।

" } } , { "@type": "Question", "name": "DM Full Form In Hospitals", "acceptedAnswer": { "@type": "Answer", "text": "

अस्पताल में डीएम का फुल फॉर्म Disaster Management है।

" } } , { "@type": "Question", "name": "DM Full Form In Currencies", "acceptedAnswer": { "@type": "Answer", "text": "

मुद्राओं में डीएम का फुल फॉर्म Deutsche Mark है।

" } } ] }

डीएम के लिए क्या क्वालिफिकेशन चाइये

अगर आप डीएम बनना चाहते हैं आपके पास मिनिमम क्वॉलिफिकेशन आपका ग्रेजुएशन जरूरी है। किसी भी डिसिप्लिन से आपने आर्ट्स सब्जेक्ट से है कॉमर्स से है या साइंस सब्जेक्ट से है किसी भी सब्जेक्ट से आपने ग्रेजुएशन कंप्लीट कर लिया है तो आप डीएम बन सकते हैं। इसके लिए जो एग्जाम होता है वो आप दे सकते हैं सो आपका ग्रेजुएशन जरूरी है।

ये भी पढ़े :

डीएम बनने के लिए ऐज कितना होना चाईए

तो इसमें जो एज लिमिट है वो 21 से 32 साल ग्रेजुएशन के बाद होता है इसलिए मिनिमम एज 21 मैन मैक्सिमम 32 है ये जनरल कैटिगरी के लिए है लेकिन अगर आप रिजर्व कैटिगरी से बिलांग करते हैं तो आपको इसमें रिलेक्सेशन दिया जाता है जैसे ओबीसी कैंडिडेट के लिए 35 अपर एज लिमिट एससी एसटी कैंडिडेट के लिए 37 अपर एज लिमिट रखी गई है।

डीएम एग्जाम आप कितने बार दे सकते हैँ

तो जनरल कैटिगरी के लिए ये 6 बार आप एग्जाम देते हैं आपकी ऐज लिमिट पूरा होने तक। ओबीसी कैंडिडेट के लिए 9 बार एग्जाम दे सकते है उनका ऐज लिमिट पूरा होने तक और एससी एसटीट के लिए जितने बार चाहे उतनी बार एग्जाम दे सकते है उनका ऐज लिमिट पूरा होने तक।

डीएम बनने के लिए कौन सा एग्जाम देना होगा

इसके लिए आपको यूपीएससी के द्वारा एग्जाम कंडक्ट कराया जाता है सिविल सर्विस एग्जाम ( सीएससी ) आपको देना होता है। उसके बाद आप डीएम बनते हैं। अगर आप डीएम बनना चाहते हैं तो यह यूपीएससी के दौरान ही एग्जाम कंडक्ट कराए जाते हैं। लेकिन मैं आपको कहूंगी यहां पर आप डायरेक्ट डीएम नहीं बनते हैं जो आपको एग्जाम देते हैं तो ये एग्जाम क्लियर करने के बाद आप इसमें आईएएस ऑफिसर बनते हैं। आईएएस ऑफिसर जो रहते हैं वो बाद में प्रमोट होते हैं दो से तीन साल या जितनी ड्यूरेशन आपको रहता है तीन चार साल का पांच साल का उसके बाद आप प्रमोट होते हैं और प्रमोशन के बाद आप डीएम बनते हैं जो आईएएस ऑफिसर होते हैं वही आगे डीएम बनते हैं।

डीएम के लिए सेलेक्शन कैसे होता है

सिविल सर्विस एग्जाम जो यूपीएससी के द्वारा कंडक्ट कराया जाता ये आईएएस बन रहे हैं एग्जाम दे रहे है उसका जो सिलेक्शन प्रोसीजर थ्री स्टेप में रहता है जैसे कि प्री एग्जाम मेंस एग्जाम और इंटरव्य। प्रिलिम्स एग्जाम क्लियर करने के बाद आप मेन एग्जाम दे सकते हैं। मेन एग्जाम जो आप क्लियर कर लेते हैं तो आपको इंटरव्यू के लिए कॉल किया जाता है और इंटरव्यू क्लियर करने के बाद में आपको ट्रेनिंग दी जाती है और उसके बाद आप एक आईएएस ऑफिसर बनते हैं और जिस तरह से मैंने बताया प्रमोट होते हैं कुछ टाइमिंग के बाद आप डीएम बन जाते हैं।

डीएम की सैलरी कितनी होती है

तो सैलरी यहां पर डिस्ट्रिक मजिस्ट्रेट की काफी अच्छी रहती है और फैसिलिटीज भी काफी दी जाती हैं सैलरी लगभग हम देखें स्टार्टिंग तो 75 हजार से 1 लाख तक पार मंथ रहती है।

About the author

Avatar

Mantu Sing

Hi, I'm Mantu Sing, में hindimepro.in वेबसाइट का संस्थापक और लेखक भी हूं। में इस वेबसाइट में जीबनी परिचय, फुल फॉर्म के बारे में पोस्ट लिखता हूं।

Leave a Comment