Credit Card क्या है? इसका फायदे और नुकसान क्या है?

हेलो दोस्तो कैसे हो उम्मीद करता हूं आप सब अच्छे होंगे आप सभीको himdimepro.in वेबाइट मे स्वागत है। आज फिर से आपके लिए और एक नया पोस्ट लेके आया हूं आज की पोस्ट मे आपको बताऊंगा की Credit Card क्या है और इसके फायदे और नुकसान के बारे मे। मे उम्मीद करता हूं ये पोस्ट आपको अच्छा लगेगा।

मैं Credit Card का बहुत ज्यादा इस्तमाल करता हूं और काफी लंबे समय से मैं Credit Card इस्तमाल कर रहा हूं।  इसलिए आज के इस वीडियो में मैं आपको Credit Card से जुडी हुई बहुत सारी चीजों के बारे में बताने वाला हूं जैसे कि Credit Card क्या होता है।Credit Card के लिए अप्लाई कैसे करते हैं। Credit Card का यूज कैसे होता है और Credit Card के फायदे और नुकसान क्या होते हैं। इन सारी चीजों के बारे में आज के इस पोस्ट में हम बात करेंगे तो चलिए शुरू करते हैं।

Credit Card क्या है?

सबसे पहले हम बात करते हैं कि Credit Card होता क्या है। जैसे कि एटीएम कार्ड होता है डेबिट कार्ड होता है तो इसी तरह से Credit Card भी एक कार्ड होता है। लेकिन इन दोनों में डिफरेंस होता है जो हमारा डेबिट कार्ड होता है ये बैंक अकाउंट से लिंक होता है जबकि Credit Card किसी बैंक अकाउंट से लिंक नहीं होता है।

इसलिए हम डेबिट कार्ड से सिर्फ उतने ही पैसे खर्च कर सकते हैं जितने हमारे अकाउंट में होते हैं। क्योंकि ये अकाउंट से लिंक होता है जबकि Credit Card जब हमें बैंक जारी करता है तो उसमें एक लिमिट हमें देता है जोकि 25 हजार रुपए से लेकर तीन लाख रुपए तक कुछ भी हो सकती है और वो लिमिट हम एक महीने में खर्च कर सकते हैं।

Credit Card किन किन लोग को दिया जाता है?

अब बात ये भी है कि Credit Card किन लोगों को दिया जाता है। अगर आपके पास एक अच्छा इनकम सोर्स है यानि अच्छी सैलरी वाली आपकी कोई एक जॉब है या फिर आपका अच्छा बिजनेस चल रहा है और साथ ही अपनी सिबिल स्कोर अच्छा है तो आपको इसीलिए Credit Card मिल जाता है।

Credit Card के लिए अप्लाई कैसे करें?

इसमें दो तरीके होते हैं आप ऑनलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं और आप ऑफलाइन भी अप्लाई कर सकते हैं। जिस बैंक का आपने Credit Card लेना चाहते हैं उसकी वेबसाइट पर जाकर के आप डायरेक्ट ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं जैसे कि अगर आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के ठेका लेना चाहते हैं तो आप एसबीआई का डॉट कॉम पर जाकर के उसके लिए अप्लाई कर सकते हैं और अगर आप एचडीएफसी का Credit Card लेना चाहते हैं तो आप एचडीएफसी ही नेट बैंकिंग मजा करके आप अप्लाई करने का ऑप्शन मिलता है। आप वहां से अप्लाई कर सकते हैं। अगर आप चाहें तो आप सीधे बैंक में जाकर के भी ऑफलाइन फॉर्म फिल कर सकते हैं। उससे भी आप Credit Card के लिए अप्लाई कर सकते हैं। जैसे आप क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करते हैं तो एक महीने में Credit Card आपके एड्रेस पर भेज दिया जाता है और उसके बाद आप इसका यूज कर सकते हैं।

Credit Card का यूज़ कैसे होता है?

Credit Card का यूज कैसे होता है जब बैंक आपको Credit Card जारी करता है तो इसकी एक लिमिट बैंक आपको पहले से ही फिक्स करके देता है जो के 25 हजार पैसे लेकर तीन लाख रुपए के बीच में कुछ भी हो सकती है जो बिटकॉयन के साथ साथ भी बढ़ती रहती है। तो इसमें क्या होता है कि जितनी लिमिट बैंक फिक्स कर देता है उतना ही आप इसको ऑनलाइन शॉपिंग में या किसी को पेमेंट करने में ये एटीएम मशीन से कैश निकालने में आप यूज कर सकते हैं। आप अगर चाहे तो इसे एटीएम से कैश में निकाल सकते हैं लेकिन उसमें जो पेनल्टी है वो आपके कैश निकालने के साथ ही लगना शुरू हो जाती है। इसलिए Credit Card से कभी भी कैश नहीं निकालना चाहिए। आपको इसे हमेशा ऑनलाइन पेमेंट करना चाहिए या शॉपिंग वगैरह करनी चाहिए। जैसे आप अपने डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं तो हर उस जगह पर आप अपने Credit Card का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

Credit Card का क्या क्या फायदे है?

चलिए हम बात करते हैं Credit Card के क्या क्या फायदे होते हैं। Credit Card के बहुत सारे फायदे होते हैं। सबसे बड़ा फायदा तो इसका यह होता है कि अगर हमें इमरजेंसी में अमाउंट की जरूरत पड़ जाए और हम अपने फ्रेंड से ना मांग सकें। प्रेरणा में ना दे तो सिचुएशन में आप अपने Credit Card से वो अमाउंट निकाल के यूज कर सकते हैं।

और बाद में एक महीने के बाद आप उसका बिल पे कर सकते हैं। दूसरा फायदा ये होता है कि जब आप इसे ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं या पेमेंट वगैरह करते हैं तो इसमें आपको कुछ रिवॉर्ड प्वाइंट्स मिलते हैं जिन्हें आप रिडीम कर सकते हैं और तीसरा फायदा यह होता है कि जैसे जवाब पेमेंट करते हैं तो उसमें आपको काफी छूट भी मिलती है। इससे क्रेडिट कार्ड से जब हम शॉपिंग करते हैं या पेमेंट करते हैं तो उसमें हमें काफी छूट भी मिल जाती है।

Credit Card के नुकसान?

चलिए हम बात करते हैं क्रेडिट कार्ड के नुकसान क्या होते हैं। जिस तरह से Credit Card के काफी सारे फायदे हैं तो उसी तरह से Credit Card के काफी सारे नुकसान भी है। सबसे बड़ा नुकसान इसका ये है कि अगर आप इसका बिल पे करने में चूक जाते हैं। यानी अगर आपकी ड्यू डेट है 2 तारीख और आप 2 तारीख में बिल पे नहीं करते हैं तो आपके ऊपर अच्छे खासे पैनल्टी लग जाती है।

दूसरा बड़ा नुकसान यह है कि अगर आप Credit Card से एक मशीन से कैश निकालते हैं तो कैश निकालने के दिन से ही आपके ऊपर पेनल्टी लगना शुरू हो जाती है जब तक कि आप उसे जो आपने कैश निकाला है उसको आप पे नहीं कर देते।

तीसरा बड़ा नुकसान ये है कि अगर आपका Credit Card गुम हो जाता है और कोई पर्सन इससे इंटरनैशनल ट्रांजैक्शन कर लेता है तो उसमें आपको ओटीपी भी नहीं मिलता है। बस्सी जो क्रेडिट कार्ड के आप नंबर शो हो रहे हैं ये नंबर डाल करके पीछे जो एक नंबर शो होता है सीवीवी नंबर उसको डालकर कोई भी डायरेक्ट पेमेंट कर सकता है इसमें आपके पास कोई ओटीपी भी नहीं आता है। ओटीपी सिर्फ नैशनल ट्रांजैक्शन में आता है जो इंटरनैशनल टामसन होते हैं उनमें ओटीपी नहीं आता है। तो इसलिए अगर ये कहा जाता है तो कोई भी आपके इस कार्य का मिसयूज कर सकता है। इसलिए आपको खोने के फौरन बाद ही इसको बंद करा देना चाहिए।

एक बड़ा नुकसान कई काल का यह। इससे फिजूलखर्ची काफी होती है। यानि के अगर आप किसी चीज़ को नहीं भी खरीदना चाहते हैं और आपके पास Credit Card है तो आपके मन में आया कि इस चीज को खरीद लेते हैं क्योंकि बिल की रकम टेंशन लेती ने यह सोच ले पाएंगे। अभी एक महीने के बाद पे करना है तो इसलिए कोई टेंशन न होती तो इससे काफी फिजूलखर्ची भी होती है। जो चीजें हमें नेवी खरीदनी होती वो भी हम Credit Card होने की वजह से खरीद लेते हैं।

Credit Card का बिल कैसे आता है और पे कैसे कैसे करे?

चलिए हम बात कर रहे हैं क्रेडिट कार्ड का बिल कैसे आता है और इसको पे कैसे करते हैं जब हम क्रेडिट कार्ड से कहीं पर कोई शॉपिंग करते हैं या पेमेंट करते हैं तो उसके कुछ दिन के बाद बिल जेनरेट होता है और बिल जेनरेट होने के बाद भी हमें लगभग 15 से 20 दिन का टाइम मिलता है उस बिल को पे करने के लिए जो कि कभी कभी एक महीने का भी होता है यानी जब हम अपने Credit Card से कोई पैसा खर्च करते हैं तो उसके बाद लगभग 50 दिन के बाद हमें उसका पेमेंट करना होता है जो हम खर्च करते हैं तो उसके कुछ दिन के बाद बिल जेनरेट होता है और बिल जेनरेट होने के कुछ दिन के बाद हमें उसको पे करना होता है।

बिल जो है वो हमारी नेट बैंकिंग में भी शो होता है और वो फिजिकली भी हमारे जो पर्सनल डेटा से होता है बैंड में उस एड्रेस पर भेज दे जाता है। उसमें सारी डिटेल होती है कि आपने कितना पैसा खर्च किया है कहां कहां पर खर्च किया है। साथ ही अगर आपके ऊपर भी पैनल्टी लगी होती है तो पैनल्टी की डिटेल बेस में होती है और उसमें ड्यू डेट भी होती है। इस डेट तक आपको बिल का पेमेंट करना ही करना है।

पेमेंट करने में आपको दो आप्शन भी रखें या तो आप मिनिमम अमाउंट होता है वो पे कर सकते हैं या फुल पेमेंट कर सकते हैं। यहां पर मैं आपको ये सलाह दूंगा कि आपको हमेशा फुल पेमेंट करना चाहिए क्योंकि अगर आप मिनिमम माउंटेड करते हैं तो बाकी का जो अमाउंट रह जाता है उसके ऊपर अच्छी खासी पैनल्टी लगती है तो जब भी आप बेगा भुगतान करें तो आपको पूरा बिल पे करना चाहिए।

अब बारी आती है कि बिल का भुगतान कैसे करते हैं या तो आप डायरेक्टली जाकर के इंटरनेट बैंकिंग से इसका पेमेंट कर सकते हैं या बहुत सारे एप्लिकेशन से जैसे फोटो एप्लीकेशन ने वहां पर आप अपने Credit Card का नंबर डाल के बिल पे कर सकते हैं। अगर आप चाहें तो डायरेक्ट बैंक में जाकर के आफलाइन भी Credit Card का बिल पे कर सकते हैं तो जहां Credit Card के बहुत सारे नुकसान हैं उसके वहां पर बहुत सारे फायदे मिलेंगे।

अगर आप इसको इस मामूली तरीके से यूज करते हैं। आप टाइम पर इसका बिल पे करते हैं तो इसके बहुत सारे फायदे भी हैं जैसे कि आप क्रेडिट पॉइंट्स मिलते हैं साथ ही आप जो आपने शॉपिंग में करते हैं वहां पर आपको काफी छूट मिलती है और इमरजेंसी में अगर आपको पैसे की जरूरत पड़ती है तो ये आपके काफी काम आता है तो इसलिए अगर आप एक अच्छी जॉब या एक अच्छा बिजनेस चल रहा है तो आपके कार्ड ले लेना चाहिए।

ये भी पोढ़े

Quora क्या है? What is Quora In Hindi?

भारत को सोने की चुडिया क्यों कहा जाता है?

आखिरी बात

इस पोस्ट में आपने जाना कि Credit Card क्या होता है card के लिए अप्लाय कैसे करते हैं और किन लोगों को दिया जाता है और Credit Card का यूज कैसे होता है और Credit Card के फायदे और नुकसान क्या है। अगर आप भी पोस्ट पसंद आया है अपने फ्रेंड्स के साथ शेयर करिए और अगर आपके मन में कुछ भी सबाल है तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते हैं।

Leave a Comment